पैटर्न मेकर बनकर बनाए अपना करियर

सोशल

लेखकः- डॉ. रूपक वशिष्‍ठ, सीईओ, एएमएचएसएससी

आज फैशन इंडस्ट्री काफी ज्यादा तरक्की कर चुकी है, जिसकी वजह से कैंडिडेट इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना सबसे ज्यादा पसंद कर रहे हैं। इसलिए कोई फैशन डिजाइनिंग कोर्स करता है तो कोई फैब्रिक डिजाइनिंग तो कोई पैटर्न डिजाइनिंग का कोर्स करता है, जिससे कि वह खूबसूरत पैटर्न डिजाइन कर सके। परंतु यदि कोई छात्र इस फील्ड में जाना चाहता है तो सबसे पहले इसके बारे में जानकारी हासिल करनी होगी जैसे कि कोर्स की अवधि, कोर्स के बाद वेतन एवं कैरियर की संभावनाएं। हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार एक सफल पैटर्न मेकर बन सकते हैं।

पैटर्न मेकर क्या होता हैः-  

पैटर्न मेकर वह होता है जो किसी भी कपड़े को डिजाइन करने के लिए ड्राफ्टिंग, ड्रेपिंग करता है, जिससे कि एक सुंदर और आकर्शक ड्रेस बनाई जा सके, लेकिन यह काम वही व्यक्ति कर सकता है, जो इससे संबंधित कोर्स करें, जिससे कि वह पैटर्न बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले साॅफ्टवेयर का प्रयाक करना सीख सके। इस प्रकार इस कोई को छात्र डिप्लोमा या फिर सर्टिफिकेट कोर्स अपनी रुचि और इच्छा के अनुसार कर सकते हैं। यह कोर्स उन लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा अच्छा है, जों 12वीं के बाद इस इंडस्ट्री को ज्वाइन करना चाहते हैं।

पैटर्न मेकर बनने के लिए प्रक्रिया क्या हैः-

जो विद्यार्थी पैटर्न मेकर बनना चाहते है, उन्हें इसके लिए सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी होगी और उसके बाद वह किसी भी अच्छे संस्थान में जाकर एडमिशन ले सकते हैं जहां पर वह डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करके पैटर्न मेकिंग सीख सकते हैं।

पैटर्न मेकर बनने के लिए योग्यताः-

पैटर्न मेकर बनने के लिए छात्र में कुछ योग्यताएं होनी चाहिए जैसे कि-

  • विद्यार्थी के कम से कम 12वीं कक्षा पास की हो।
  • 12वीं कक्षा में विद्यार्थी के कम से कम 45 प्रतिशत अंक होने चाहिए।
  • छात्र की पैटर्न मेकिंग में रुचि होनी चाहिए।
  • अंग्रेजी व कंप्यूटर का ज्ञान होना चाहिए।
  • कैंडिडेट में क्रिएटिविटी होनी चाहिए।

पैटर्न मेकर बनने के करियर संभावनाएं क्या हैः-

जो कैंडिडेट इस कोर्स को कर लेते है वह अपने हुनर के मुताबिक विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में नौकरी कर सकते हैं जैसे कि वह फैशन डिजाइनर इंडस्ट्री, गारमेंट डिजाइन इंडस्ट्री आदि। अगर आप चाहें तो स्वयं का काम भी कर सकते हैं, जिससे उसे अपनी योग्यता के अनुसार प्रॉफिट मिलेगा। इसके अलावा बहुत सारे व्यक्ति ऐसे भी है जो विदेशों में काम करके हर महीने काफी अधिक वेतन प्राप्त कर रहे हैं।

वेतनः-

कैंडिडेट पैटर्न मेकर का कोर्स पूरा कर लेते है, उसके बाद उन्हें शुरुआत में ही काफी अच्छा सैलरी पैकेज मिल जाता है,जो कि पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करता है कि वह किस लोकेशन में और इस किस कंपनी में काम कर रहे हैं। आमतौर पर 20 हजार से 25 हजार तक का वेतन ही महीने एक पैटर्न मेकर को मिल जाता है। इस प्रकार अपनी योग्यता के आधार पर यदि कैंडिडेट पूरा फोकस करें तो उसे और भी ज्यादा सैलरी ही महीने मिल जाती है।

पैटर्न मेकर के कार्य-

पैटर्न मेकर का काम बहुत ही ज्यादा रिस्पांसिबिलिटी वाला होता है, क्योंकि अगर वह जरा भी अपना काम  ठीक से ना करें तो उससे पूरा डिजाइन खराब हो सकता है। उसे अपने पद पर काम करते हुए निम्नलिखित कार्य करने होते हैं।

  • पैटर्न बनाने के लिए कंप्यूटर डिजाइन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करना।
  • फैशन डिजाइनर के द्वारा बनाए गए ड्राइंग की व्याख्या करके उसका पैटर्न टेम्पलेट बनाना।
  • एक डमी के ऊपर फैब्रिक को ड्रेप करने के साथ साथ उसे शेप देना और उस पर पिन लगाना।
  • पैटर्न के आधार पर नमूने बनाना और मशीनिस्ट के साथ काम करना।
  • फैशन डिजाइनर के साथ काम करना जिससे कि पैटर्न में किसी प्रकार का कोई परिवर्तन करना हो तो वह किया जा सके।
  • अनेकों प्रकार के डिजाइनों को समझ कर उसकी ड्राफ्टिंग करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *