अपहरण हुए ढाई वर्षीय बच्चे के मामले में क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 ने एक महिला आरोपी को जौनपुर उत्तर प्रदेश से किया काबू

समाचार

फरीदाबाद:22 मार्च, क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 ने सराहनीय कार्य करते हुए संत नगर से अपहरण हुए ढाई वर्षीय बच्चे के मामले में एक आरोपी महिला को उत्तर प्रदेश के जौनपुर से काबू करने में सफलता हासिल की है।प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 इंस्पेक्टर विमल राय ने जानकारी देते हुए बताया कि उनकी टीम ने उपरोक्त मामले को सुलझाते हुए बच्चे को पहले ही बरामद कर चुकी है।

मामले में बच्चे को उठाने वाला आरोपी अहमद जिसने अपने घर के पडोस सतं नगर से बच्चे को अपहरण किया था और up के रहने वाले फैजान को भी गिरफ्तार कर चुकी है। पूछताछ के दौरान सामने आया कि गिरफ्तार महिला पीछे से किदवई अहमद रोड मुंबई की रहने वाली है। जिसने जौनपुर उत्तर प्रदेश निवासी एक व्यक्ति से शादी की थी। जिस शादी को दोनों के ही परिवार वालों ने नकार दिया था। दोनों के ही परिवार वाले इस शादी से खुश नहीं थे।जिसके चलते दोनों ज्यादा दिन साथ नहीं रह सके और रिश्तो में फूट पड़ जाने के कारण परेशान रहने लगे।

गिरफ्तार महिला की मुलाकात फैजान से हो गई थी उसने फैजान को बोला था कि उसे एक बच्चा चाहिए, जिसके बदले में वह 15 लाख रुपए दे देगी।यह बात आरोपी फैजान ने आरोपी अहमद को बताई, अहमद और फैजान के मन में 15 लाख रुपए का लालच आ गया जिसके चलते उन्होंने बच्चे चोरी करने की वारदात को अंजाम दिया था।पूछताछ पर महिला ने बताया कि उसका बच्चे लेने का मकसद बच्चे को अपने पास रखने का था क्योंकि जब उसका शादीशुदा जीवन अच्छा नहीं रह सका तो महिला ने सोचा कि क्यों ना एक बच्चे को लिया जाए और उसके सहारे अपना जीवन व्यतीत किया जाए। जिसके चलते महिला ने फैजान को एक बच्चा लाने के लिए 15 लाख रुपए का लालच दिया था।महिला की उम्र 32 साल बताई गई है अगर बात करें महिला के परिवार की तो महिला के परिवार में कोई भी नहीं है उनका माता-पिता की एवं भाई-बहन की एक्सीडेंट के दौरान मृत्यु हो चुकी है।जांच में यह भी सामने आया कि महिला के पिता की किदवई अहमद रोड मुंबई में खोली है जोकि महिला के ही नाम है महिला बच्चे के बदले में उस खोली को बेचकर फैजान को 15 लाख रुपए देने वाली थी। उपरोक्त केस को सुलझाने में पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह ने प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 इंस्पेक्टर विमल राय के काम की सराहना की है। पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने इंस्पेक्टर विमल राय के कार्य से खुश होकर उनको प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र भी दिया है।अगर बात की जाए प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 इंस्पेक्टर विमल राय और उनकी टीम की तो उन्होंने जुलाई 2020 से लेकर अभी तक 8 मोस्ट वांटेड अपराधियों को काबू किया है।जिसमें कुल्लू उर्फ कुलभूषण निवासी गांव नचोली शामिल है जिस पर 2 लाख रुपए का इनाम घोषित था इसके अलावा 50000 के दो, 25000 का एक और 5000 के चार बदमाश शामिल है।इंस्पेक्टर विमल और उनकी टीम ने नाजायज असला रखने वाले एवं नशा तस्करी करने वाले आरोपियों के खिलाफ 41 मुकदमे दर्ज कर 43 आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा है। अगर बात की जाए स्नैचिंग, लूट, डकैती तो उनकी टीम ने करीब 14 मामले सुलझाते हुए 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा वांछित अपराधियों पर भी शिकंजा कसते हुए उन्होंने 31 मामले सुलझाए है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *