गवर्नमेंट बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल, अलावलपुर जिला, पलवल में केडमैन स्किलिंग लैब का उद्घाटन

लैब का उद्घाटन  संजय जून, आईएएस, कमिश्नर फरीदाबाद द्वारा किया गया

– हरियाणा के 100 स्कूलों में एक पायलट प्रोजेक्ट के तहत लैब का स्थापन

फरीदाबाद, 26 मार्च,  संजय जून, आईएएस, आयुक्त फरीदाबाद मंडल और कृष्ण कुमार, आईएएस, उपायुक्त, पलवल ने सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, अलावलपुर जिला, पलवल में आज केड इनेबल्ड वोकेशनल स्किलिंग लैब का उद्घाटन किया गया। लैब का उद्देश्य भारत में राज्य सरकार द्वारा संचालित स्कूलों में नवीन उपकरणों को लागू करना है और केड के तरीकों को अपनाते हुए वोकेशनल विषयों पर प्रशिक्षण देना है।

एनएसडीसी और केडमैन स्किलएड इंडिया लिमिटेड (कुन्सकैप्सकोलन एजुकेशन स्वीडन एबी और मानव रचना एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस के बीच एक संयुक्त उद्यम) द्वारा हरियाणा के 100 स्कूलों में एक पायलट प्रोजेक्ट लागू किया जा रहा है। केडमैन परियोजना का उद्देश्य लगभग 47 मिलियन स्कूल जाने वाले भारतीय छात्रों को कौशल प्रशिक्षण देना है जो अपने परिवारों को आर्थिक रूप से समर्थन देने के लिए पढ़ाई जल्दी छोड़ देते हैं।

लैब का उद्घाटन मानव रचना शैक्षणिक संस्थानों (MREI) के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला; संजय भटनागर, निदेशक, सीएचआरओ, कॉर्पोरेट अनुपालन कार्यकारी – राष्ट्रीय प्रमुख- सीएसआर, सोनी इंडिया; राजीव माथुर, सीईओ, केडमैन स्किलिंग; श्री अशोक बघेल, डीईओ पलवल; सुखबीर सिंह, डिप्टी डीईओ, पलवल; गौतम कुमार, जिला प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी, पलवल; जगबीर सिंह, बीईओ, पलवल; डॉ एन सी वाधवा, डीजी, एमआरईआई; और स्कूल के प्रिंसिपल प्रह्लाद सिंह, और वीणा नागर पोसवाल की उपस्थिति में किया गया। GSSS, अलावलपुर जिला, पलवल में वीणा नागर पोसवाल, प्रिंसिपल के नेतृत्व में पहली लैब स्थापित की गई थी।

राज्य सरकार के साथ मानव रचना केडमैन के इस कदम की सराहना करते हुए, संजय जून ने टेक्नोलॉजी को अपनाकर आने वाले समय में प्रासंगिक रहने के महत्व के बारे में बात की। “बदलती तकनीक के साथ बने रहना और जीवन में बढ़ने और बेहतर नौकरी के अवसर खोजने में सक्षम होने के लिए कौशल निर्माण को अपनाना महत्वपूर्ण है। यह न केवल बच्चों को नए कौशल हासिल करने में मदद करता है बल्कि उन्हें आत्मनिर्भर बनने में भी मदद करता है।”

 कृष्ण कुमार, आईएएस, उपायुक्त, पलवल ने कहा, “सभी विद्यार्थियों के लिए इस लैब में ऑफर किए जा रहे वीडियो आधारित कंटेंट और नई तकनीक के माध्यम से नए कौशल हासिल करके अपना जीवनयापन करने में सक्षम होना आवश्यक है।”

 संजय भटनागर ने कहा, “केड इनेबल्ड वोकेशनल स्किलिंग लैब्स नई सुविधाओं से लैस हैं जो समग्र विकास के लिए एक वातावरण प्रदान करती हैं। लैब छात्रों को रिटेल, आईटी, ब्यूटी और वेलनेस जैसे विभिन्न क्षेत्रों में बढ़ती नौकरी की भूमिकाओं के लिए तैयार करती हैं  उन्होंने छात्रों को इस विशेष अवसर का लाभ उठाने और अपने करियर में ऊंचा उठने के लिए प्रेरित किया।

इस पहल के बारे में बात करते हुए, राजीव माथुर ने साझा किया कि ये लैब्स वीडियो-आधारित कंटेंट प्रदान करती हैं जो कक्षा IX-XII के छात्रों के कौशल को बढ़ाने में मदद करती हैं और उनके करियर की नींव बनाने की दिशा काम करती हैं।

एक नई लैब की स्थापना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए, डॉ. प्रशांत भल्ला ने कहा,”ये लैब्स न केवल स्कूल के बुनियादी ढांचे को सुंदर बनाती हैं, बल्कि यह थ्योरी और प्रैक्टिस से व्यावसायिक कौशल को सुनिश्चित करती हैं।” उन्होंने यह भी साझा किया कि कैसे हरियाणा में सोनी इंडिया, केडमैन स्किलिंग प्राइवेट लिमिटेड और राज्य सरकार के पूर्ण समर्थन के साथ वोकेशनल स्किलिंग लैब स्थापित करने की पहल की गई थी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like