ग्रामीण क्षेत्रों में करो ना संक्रमण रोकने के लिए टेस्टिंग और ट्रैकिंग बढ़ाएं स्वास्थ्य विभाग: उपायुक्त

फरीदाबाद: 18 मई,  उपायुक्त यशपाल ने मंगलवार को जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और उप स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। औचक निरीक्षण के दौरान उन्होंने वहां के चिकित्सा अधिकारियों तथा अन्य चिकित्सा स्टाफ को दिशा निर्देश भी दिए। औचक निरीक्षण के दौरान जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ रणदीप पुनिया भी साथ रहे। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 के संक्रमण के बचाव के लिए वैक्सीनेशन और कोरोना पॉजिटिव केसों की जांच का कार्य विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में चलाया जा रहा है।   उपायुक्त यशपाल ने सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर लोगों को लगाए गए वैक्सीनेशन और कोविड-19 जांच को साथ साथ अपलोड करवाने बारे संबंधित स्टाफ के सदस्यों को दिशा निर्देश दिए। अटल बिहारी  कोविड-19 मेडिकल कॉलेज में भारतीय सेना के वेस्टर्न कमाण्ड आर्मी द्वारा की जा रही कोविड-19 बारे विस्तार पूर्वक वहां के आर्मी के चिकित्सा अधिकारियों से जानकारी ली।  मेडिकल कॉलेज में सरकार हरियाणा सरकार और स्थानीय चिकित्सा स्टाफ के सहयोग से आर्मी द्वारा कोविड-19 से ग्रस्त लोगों का उपचार किया जा रहा है। उपायुक्त  यशपाल ने वहां पर  लगाए गए वेंटीलेटर, एक्स रे मशीन तथा अन्य चिकित्सा सुविधाओं की बारीकी से जानकारी ली। उपायुक्त यशपाल ने आज सामुदायिक चिकित्सा केंद्र खेड़ी कलां, सामुदायिक चिकित्सा केंद्र कुराली, अटल बिहारी कोविड-19 मेडिकल कॉलेज छायंसा, उप स्वास्थ्य केंद्र अटाली, उप स्वास्थ्य केंद्र दयालपुर और उप स्वास्थ्य केंद्र चंदावली में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों को को वैक्सीनेशन और आमजन के कोरोना टेस्ट टेस्टिंग का निरीक्षण किया। उपायुक्त यशपाल ने चिकित्सा केंद्रों में बनाए गए आइसोलेशन सेंटरों और कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए उपचार बारे भी चिकित्सा अधिकारियों से विस्तार पूर्वक जानकारी ली।  ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा केन्द्रों से संबंधित सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार चिकित्सा अधिकारियों को दिशा निर्देश भी दिए। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि सरकार ग्रामीण क्षेत्र में कोविड-19 संक्रमण के बचाव के लिए गंभीरता से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रशासन का प्रयास है कि चिकित्सा विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों से तालमेल करके जिला के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए बेहतर व्यवस्था की जाए और अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करके कोविड-19 संक्रमण से बचाया जाए।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like