श्री श्रद्धा रामलीला का मंचन में दशरथ के रूप में अजय खरबंदा ने अपने संवादों से दर्शकों का मन मोह लिया

फरीदाबाद: (पंकज अरोड़ा ), देशभर में ख्याति प्राप्त कर चुके श्री श्रद्धा रामलीला का मंचन अपनी चरम सीमा पर है “मेरी छोटी सी है नाव तेरे जादू भरे पाव मोहे डर लागे राम कैसे बैठा हूं तो है नाम में” यह प्रसंग है जब अयोध्या नगरी छोड़कर गंगा किनारे पहुंचे श्री राम केवट से गंगा नदी पार कराने को कहते हैं यह गीत गाते हुए केवट नाव में बिठाने से मना कर देते हैं और फिर प्रभु श्रीराम के चरण धोने की शर्त पर राजी होने और गंगा नदी पार कराने के बाद प्रभु राम द्वारा केवट को मजदूरी के रूप में सीता जी की अंगूठी देने के दौरान गीत ” केवट किया मजदूरी लो जो गंगा के पार उतारा है” और बदले में केवट का कहना है कि “क्यों शर्मसार भगवान करो यह सब कुछ दिया तुम्हारा है” यह प्रसंग रविवार को श्री श्रद्धा रामलीला कमेटी में आयोजन किया गया,  डीएवी पब्लिक स्कूल के सभागार में तीसरे दिन के मंचन में दशरथ तीनों माताओं कौशल्या सुमित्रा केकई द्वारा राम लक्ष्मण और सीता का वन जाने का दृश्य था आपको बता दें कि राम के रूप में मोहित वशिष्ठ सीता की भूमिका में योगंधा वशिष्ठ लक्ष्मण के रूप में अनिल चावला और दशरथ के रूप में अजय खरबंदा ने अपने संवादों से दर्शकों का मन मोह लिया आपको बता दें कि आज श्री श्रद्धा रामलीला कमेटी के मंच पर राम हनुमान मिलन प्रसंग का मंत्र रात 9:00 बजे किया जाएगा सेक्टर 14 डीएवी पब्लिक स्कूल में

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like