सनफ्लैग अस्पताल को सरकारी अस्पताल बनाने के लिए किया प्रदर्शन

फरीदाबाद: 03 जुलाई, सनफ्लैग अस्पताल को सरकारी अस्पताल बनाने के लिए आज तमाम फरीदाबाद के समाजसेवी संस्थाओं और फरीदाबाद वासियों ने सेक्टर 16 सनफ्लैग अस्पताल के सामने ही हाथों में स्लोगन लिए प्रदर्शन किया
फरीदाबाद वासियों ने अपनी बात रखते हुए कहा कि फरीदाबाद शहर जनसंख्या व जनसंख्या घनत्व के हिसाब से हरियाणा का सबसे बड़ा शहर है। परन्तु सरकार द्वारा संचालित बड़े अस्पताल के नाम पर यहाँ केवल B.K अस्पताल है जो कि 1951 में फरीदाबाद वासियों लिए बनवाया था। फरीदाबाद आबादी और प्रवासी जनसंख्या के हिसाब से बहुत तेजी से बढ़ रहा है और अगर हम आज की बात करें तो फरीदाबाद की आबादी 28 से 30 लाख के तकरीबन होने जा रही है वहीं राजस्व की बात करें तो फरीदाबाद जिला दूसरे नंबर पर हरियाणा सरकार को राजस्व देता है लेकिन फिर भी फरीदाबाद में स्वास्थ्य क्षेत्र में सरकारी सुविधाएं नाम मात्र की है।
वही जसवंत पंवार ने बताया कि HSVP के अधीन फरीदाबाद के सेक्टर 16 स्थित सनफ्लैग हॉस्पिटल की बिल्डिंग खाली पड़ी है जो कि लोगों की पहुंच के हिसाब से बिल्कुल उपयुक्त है । सुगमता की दृष्टि से यह अस्पताल फरीदाबाद मध्य और ग्रेटर फरीदाबाद के निवासियों के लिए भी बहुत लाभकारी होगा। हरियाणा सरकार इसे जल्द से जल्द सरकारी अस्पताल बनाती है तो फरीदाबाद के मध्यम और गरीब वर्ग को बहुत राहत मिलेगी। इससे पहले ज्यादातर निजी अस्पताल सरकार से सस्ती दर पर ली गई जमीन पर बने हैं, मगर निजी अस्पताल प्रबंधकों ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में दोनों हाथों से मरीजों को लूटा। शासन-प्रशासन इनके खिलाफ सख्त कानून के अभाव में मौन होकर देखता रहा। निजी अस्पताल दवाइयां बेचते रहे। बिल भुगतान न होने के कारण गरीब दिवंगत मरीजों का शव भी परिजनों को नहीं दिया। जिस मरीज का इलाज साधारण बेड पर किया गया, उसका भी पांच-पांच लाख रुपये बिल बना दिया गया। देने की एवज मे ऐसे कई मामले पुलिस ने पकड़े हैं

इसलिए हम सभी फरीदाबाद वासियों की माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी, हरियाणा सरकार मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से अपील है कि करोना की तीसरी लहर से लड़ने और फरीदाबाद की गरीब जनता के हितो को ध्यान में रखते हुए सनफ्लैग अस्पताल को सरकारी अस्पताल बनाया जाए। इस मौके अभिषेक गोस्वामी, कपिल पाराशर, प्रीतपाल सिंह, मनिराम भड़ाना, प्रोमोद भड़ाना, नरेश मेहंदीरत्ता, सुमित रावत, विंग कमांडर एडवोकेट सतेंद्र दुग्गल, अरुण भारती,शिवम पांडेय, राहुल, महेंद्र गोला, जसवंत पवार आदि ने सनफ्लेग को सरकारी बनाने की आवाज उठाई और सरकार को चेताया कि यदि सरकार अपनी कुम्भकर्ण की नींद से नहीं जागती है तो आंदोलन को आगे बढ़ाया जाएगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like