डी.पी.एस.जी. फरीदाबाद में सम्मान समारोह का आयोजन 

प्रतिभा के बल पर ही लोग ऊंचाई पर पहुंचते हैं। प्रतिभा संपन्न व्यक्ति की सुगंध चारों तरफ फैल जाती है। डीपीएसजी, फरीदाबाद: 19 अगस्त,  देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में “आजादी का अमृत महोत्सव” मना रहा है। दस दिनों तक चलने वाले कार्यक्रमों की श्रृंखला में 18 अगस्त 2022 को डी.पी.एस.जी. फरीदाबाद के प्रांगण में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया ,जिसमें समाज व राष्ट्र की प्रगति में सहायक विभिन्न क्षेत्रों के गणमान्यों को उनकी प्रतिभा तथा विशिष्ट उपलब्धियों की सराहना हेतु सम्मानित किया गया | कार्यक्रम का आरम्भ दीप प्रज्ज्वलन व सरस्वती वंदना के साथ हुआ |उसके बाद प्राचार्या प्रीति सांगवान ने गेस्ट ऑफ़ ऑनर एस .एस .गुसाई के साथ – साथ सभी अतिथियों का अभिवादन किया | उन्होंने कहा कि इस प्रकार के सम्मान समारोह के आयोजन से बच्चों को कुछ करने की प्रेरणा मिलती है। उनके जज्बातों को एक नई दिशा मिलती है। उनमें दृढ इच्छा शक्ति पल्लवित और पुष्पित होती है। समन्वयक अंजू मालिक ने पी पी टी के माध्यम से डीपीएस गाज़ियाबाद सोसायटी के अध्यक्ष ओम पाठक का परिचय व उनकी उपलब्धियों को बताते हुए संस्था ,शिक्षापद्धति,पाठयक्रम प्रारूप व छात्रों के सर्वांगीण विकास में सहायक सभी गतिविधियों पर चर्चा की तत्पश्चात एस .एस .गुसाई व विंग कमांडर एच.सी.मान ने सभी महानुभावों; आनंद मेहता (शिक्षा एव.खेल), जनरल दत्त( सशस्त्र बल ), इंद्रजीत ( जिला प्रशासन), डॉ राज नेहरू। (शिक्षा), विंग कमांडर मान (सशस्त्र बल), राकेश गौतम (जन संपर्क), विकास कालिया (पत्रकारिता), सुशील भाटिया (पत्रकारिता), मनोज कुमार  (पत्रकारिता ), कैप्टन किशनलाल यादव (सशस्त्र बल), राजीव रंजन प्रसाद (लेखन), विजय यादव, (अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट), डॉ अंजलि जैन (सोशल सर्विस), विराट सरीन (खेल), मती अंजू गड़ेजावलिया (शिक्षा), के. विश्वनाथन (कला), . डॉ. हरजीत कौर (चाइल्ड केयर  हेल्थ), रविंदर सिंह दहिया (सामाजिक कार्य), डॉ स्मिता श्रीवास्तव (चाइल्ड केयर  हेल्थ), सोनिया डोगरा (शिक्षा), देव सोलंकी (शिक्षा), दिव्या मलिक ( शिक्षा), धर्म सिंह डागर (सामाजिक कार्य), डॉ जितेंद्र सिंह, अजय नरवत (सामाजिक कार्य), सूरज डागर (सामाजिक कार्य), अनुराधा चावला (शिक्षा),चारू गोयल (शिक्षा),  शैली सुखिजा (शिक्षा), अनु शर्मा (शिक्षा), शालिनी चंद्रा (शिक्षा)आदि को सम्मानित किया |

एस .एस .गुसाई ने अपने अनुभव को साँझा करते हुए शिक्षक व छात्र की जिम्मेदारियों और शिक्षा व तकनीकी में आये बदलावों के विषय में बताया| एक अच्छे राष्ट्र के निर्माण में शिक्षक की अहम् भूमिका बताते हुए यह भी कहा कि शिक्षक ही अपने छात्रों में पढाई के प्रति रूचि पैदा कर सकते हैं तथा एक अच्छा इन्सान बनाकर समाज व राष्ट्र में सहयोग के लिए प्रेरित कर सकते हैं|

कार्यक्रम के अंत में प्रधानाचार्या व प्रबंधन समिति द्वारा सभी अतिथियों को उपस्थिति के लिए धन्यवाद किया गया तथा सभी के लिए हाई टी का भी प्रबंध किया गया| यह सम्पूर्ण दिवस अत्यंत ज्ञानप्रद , आनंदमयी व प्रेरणादायक रहा|

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

You cannot copy content of this page