ढाबा संचालक पर गोली चलाने वाले चार आरोपी गिरफ्तार, पिस्टल, 10 जिंदा कारतूस और अल्टो कार बरामद

फरीदाबाद: 02 मार्च, गांव मौजपुर में स्थित शिवा ढाबा संचालक संजीव पर फायरिंग करने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।गिरफ्तार किए गए आरोपी में विपिन, पुलकित, हिमांशु और प्रशांत का नाम शामिल है। आरोपी विपिन पुत्र बिजेंद्र आदर्श नगर, पुलकित पुत्र भीकन लाल सेक्टर 77 और आरोपी हिमांशु पुत्र राजेंद्र व प्रशांत पुत्र महेश फरीदाबाद के छांयसा गांव के रहने वाले हैं। ढाबा संचालक पर फायरिंग करने का मुख्य कारण आरोपियों को ढाबे पर बैठकर शराब पीने से मना करना था। तकरीबन 1 सप्ताह पहले आरोपी विपिन अपनी बुआ के लड़के धर्मेंद्र के साथ ढाबे पर पहुंचा था और वहां पर बैठकर शराब पीना चाहता था जिसके लिए ढाबा संचालक ने मना कर दिया।

ढाबा संचालक द्वारा मना किए जाने पर आरोपी ढाबा संचालक से रंजिश रखने लगा और दिनांक 29 मार्च को दोपहर करीब 2:30 बजे आरोपी विपिन अपने दोस्तों पुलकित, हिमांशु और प्रशांत के साथ अपनी ऑल्टो गाड़ी में बैठकर ढाबे पर पहुंचा। 29 मार्च को दुल्हन्डी के अवसर पर ढाबे के कर्मचारी वहां पर मौजूद नहीं थे। आरोपी ने ढाबा संचालक से खाना मांगा तो संचालक संजीव ने बताया कि अभी खाना नहीं मिल पाएगा जिस पर आरोपी आग बबूला हो गए और उसके साथ मारपीट की। इसके पश्चात आरोपी विपिन ने अपनी पिस्टल से ढाबा संचालक को जान से मारने की नियत से उस पर तीन फायर किए परंतु संचालक संजीव ने सतर्कता से जमीन पर बैठकर जैसे तैसे अपनी जान बचाई।

संजीव पर फायरिंग करने के पश्चात चारों आरोपी मौके से फरार हो गए। पीड़ित संजीव की शिकायत पर थाना छांयशा में आरोपियों के खिलाफ हत्या का प्रयास, षड्यंत्र रचने, धमकी देने और आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने आरोपियों की धरपकड़ के निर्देश दिए जिस पर कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 65 की टीम ने घटना के मुख्य आरोपी विपिन को 30 मार्च 2021 को आदर्श नगर से गिरफ्तार कर लिया। इसके पश्चात 31 मार्च को आरोपी विपिन के तीनों साथियों पुलकित, हिमांशु और प्रशांत को भी गुप्त सूत्रों की सहायता से गिरफ्तार किया गया।

आरोपी विपिन और पुलकित को 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर मामले में गहनता से पूछताछ की गई। पूछताछ में सामने आया कि चारों आरोपियों में आरोपी पुलकित ग्रेजुएट है और बाकी तीनों आरोपियों की पढ़ाई अभी चल रही है। चारों आरोपी गलत संगत में पड़ने की वजह से नशा करने के आदी हो चुके हैं। आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग की गई पिस्टल, 10 जिंदा कारतूस और अल्टो कार बरामद की गई है। पुलिस रिमांड पूरा होने के पश्चात दोनों आरोपियों को अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेज दिया गया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

You cannot copy content of this page