लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी पर फायदा दिलाने का झांसा देकर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, दो आरोपी काबू

आरोपियों से ₹30000 रुपए कैश, मोबाइल फोन और सिम कार्ड बरामद
आरोपियों ने फरीदाबाद में रहने वाले एक व्यक्ति से 5 लाख 26 हजार रुपए लिए थे ठग

आरोपी दिल्ली एनसीआर एवं लखनऊ एरिया में करीब इस तरह की 10 वारदातों को दे चुके हैं अंजाम
फरीदाबाद: 24 अगस्त,
लाइफ इन्शोरेंस पॉलिसी पर ज्यादा फायदा दिलाने का झांसा देकर लोगों से ठगी करने वाले एक गिरोह का साइबर अपराध थाना इंस्पेक्टर बसंत और उनकी टीम ने पर्दाफाश किया है।
आजकल के महंगाई के दौर में आमजन अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए इन्शोरेंस पॉलिसी करवाते है। लेकिन कुछ अपराधिक प्रवृति के लोग झूठा इन्शोरेंस एजेंट बनकर भोले-भाले लोगों को अपना शिकार बनाकर उनके साथ धोखाधड़ी करते हैं।
इसी तरह से आरोपियान ने फरीदाबाद के हरिश चंदर निवासी सेहतपुर पल्ला को इंश्योरेंस पॉलिसी का झांसा देकर 5,26,000/- रुपये धोखाधडी से हडप लिये थे। जिस पर अभियोग संख्या 27 दिनांक 26.05.2021 U/S 419,420,120B भा.द.स. पुलिस थाना साइबर अपराध फरीदाबाद अंकित किया गया था।
पुलिस कमिश्नर ने साइबर अपराध थाना पुलिस को मामले को जल्द सुलझाने और इस तरह की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दिशा निर्देश जारी किए थे। जिस पर कार्रवाई करते हुए साइबर अपराध थाना इंस्पेक्टर बसंत और उनकी टीम ने तकनीकी एवं अपने सूत्रों के माध्यम से धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के 2 सदस्यों को एनसीआर एरिया से गिरफ्तार किया है।
गिरफ्तार आरोपी:-
1. अंकुश पुत्र काशी निवासी थाना नोबस्ता जिला कानपुर (उ.प्र) हाल किरायेदार DDA फ्लैट्स नारायणा दिल्ली।
2. पवन पुत्र संजीव निवासी लालगंज जिला वैशाली बिहार हाल किरायेदार मकान नारायणा दिल्ली।
पूछताछ में सामने आया कि गिरफ्तार आरोपी लोगों के पास फोन कर लाइफ इन्शोरेंस पॉलिसी पर ज्यादा फायदा दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी कर अपने खातों में पैसे डलवा लेते थे। इस काम में उनके कुछ अन्य साथी भी साथ देते थे जिनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है उनको भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। पूछताछ में सामने आया कि आरोपियों ने इस तरह की करीब 10 और वारदातों को दिल्ली एनसीआर एरिया और लखनऊ में अंजाम दिया हुआ है। 
प्रबंधक साइबर अपराध थाना इंस्पेक्टर बसंत ने जानकारी देते हुए बताया कि वहां की पुलिस को इस संबंध में सूचना दी जा रही है।
आरोपियों से पुलिस टीम ने वारदात में प्रयुक्त मोबाइल फोन, सिम कार्ड व 30 हजार रुपए बरामद कर आज आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।
गिरोह का भंडाफोड़ करने वाली पुलिस टीम:-
निरीक्षक बसंत कुमार प्रबंधक थाना साइबर अपराध फरीदाबाद के नेतृत्व में सहायक उपनिरीक्षक नरेंद्र कुमार, सहायक उपनिरीक्षक बाबूराम, सहायक उपनिरीक्षक नीरज, महिला मुख्य सिपाही अंजू, सिपाही बिजेंदर, सिपाही अंशुल, सिपाही संदीप, सिपाही आजाद।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like