गिफ्ट ने बनाया एक और विश्वस्तरीय कीर्तिमान

फ़रीदाबाद: 21 नवंबर, ग्लोबली इंटीग्रेटिड फॉउंडेशन फॉर थैलेसीमिया (गिफ्ट) ने आज एक और विश्वस्तरीय कीर्तिमान स्थापित किया। फॉउंडेशन द्वारा के एल मेहता दयानन्द कॉलेज फॉर वीमेन, फरीदाबाद (हरियाणा) में थैलेसीमिक्स इंडिया व इंडियन रैड क्रॉस सोसाइटी के सयुंक्त तत्वाधान में एन.टी.टी डेटा के सहयोग से एक विशाल निशुल्क थैलेसीमिया कैरियर (एच पी एल सी) टैस्ट शिविर का आयोजन किया।  शिविर में कॉलेज की छात्राओं व महिला स्टाफ ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।  इस शिविर में 1000 छात्राओं व महिला स्टॉफ ने अपने टैस्ट करवाये। यह अपने आप में एक अद्भुत कीर्तिमान है।

उल्लेखनीय है कि इस शिविर के एक दिन पहले गिफ्ट के संस्थापक मदन चावला ने अपनी टीम के साथ कॉलेज में एक थैलेसीमिया अवेयरनेस सेमिनार की थी, जिसका एकमात्र उद्देश्य विशेषकर कॉलेज की छात्राओं को थैलेसीमिया के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देना था।  विषय की गंभीरता को समझते हुवे छात्राओं ने सेमिनार के दौरान वादा किया कि वो अपना टैस्ट आवश्य करवायेंगी।  शिविर के आयोजन में महर्षि दयानन्द एडुकेशन सोसाइटी के अध्यक्ष आनंद मेहता, कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ मंजू दुआ, यूथ रैड क्रॉस सयोंजक डॉ संगीता कुलश्रेष्ठ एवं सुदेश दहिया, एवं शिविर को सूचारू रूप से चलाने में डॉ वनश्री सिंह,शोभा तुली, शिखा गुप्ता, स• गुरविंदर पाल सिंह सनी, आरूष, मृणाल चावला व कॉलेज के यूथ रैड क्रॉस सोसाइटी के वोल्युन्टीयर्स का विशेष सहयोग रहा।

मदन चावला ने बताया कि थैलेसीमिया कैरियर (एच पी एल सी – हाई परफॉर्मेंस लिक्विड क्रोमैटोग्राफी) टैस्ट ही एकमात्र विश्वसनीय तरीका है जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि कोई इंसान थैलेसीमिया माइनर/कैरियर है या नहीं।  टैस्ट रिपोर्ट्स आने के बाद जिन लोगों में थैलेसीमिया के ट्रेट्स पाये जाते हैं उनकी विशेष रूप से कॉउंसलिंग की जायेगी कि उन्हें क्या सावधानी बरतनी चाहिये कि विवाह पश्चात उनके परिवार में थैलेसीमिया ग्रस्त बच्चा (थैलेसीमिया मेजर रोगी) ना पैदा हो।

समाचार एवं विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 09818926364 या हमें ई-मेल करें [email protected] 

थैलेसीमिया के विषय में अधिक जानकारी के लिये आप मदन चावला से +91 9811089975 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like