भगवान ने न्याय के लिए देवराज इंद्र को भी दंड देने में देरी नहीं की:- स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य

श्री लक्ष्मीनारायण दिव्य धाम में सविधि मनाया गया गोवर्धन पर्व

फरीदाबाद: 05 नवंबर, सूरजकुंड रोड सेक्टर 44 स्थित श्री लक्ष्मीनारायण दिव्यधाम (श्री सिद्धदाता आश्रम) मैं गोवर्धन का पर्व सविधि मनाया गया। इस अवसर पर गौ गव्य से बने गोवर्धन भगवान से लोक मंगल की कामना की गई।
इस अवसर पर दिव्यधाम के अधिपति अनंत विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य महाराज ने पूजन किया एवं भक्तों को प्रसाद एवं आशीर्वाद प्रदान किया।
स्वामी जी ने कहा कि हमेशा न्याय के साथ खड़े रहिए, हमेशा न्याय का साथ दीजिए, अन्याय अपने आप हार जाएगा। भगवान श्रीकृष्ण ने भी आम जनमानस पर अन्याय होते देख देवराज इंद्र का भी घमंड चूर चूर कर दिया। उन्होंने यह नहीं सोचा कि वह अपने ही बनाए देवताओं के राजा को दंड दे रहे हैं बल्कि उन्होंने आम जनमानस के साथ अन्याय को बर्दाश्त नहीं किया। महाराज ने कहा कि श्री गोवर्धन पूजन का यह भी महत्व है कि हम गौ माता को सम्मान दें, गौ गव्यों को विभिन्न विधियों में उपयोग करें और अपनी संस्कृति के साथ जुड़े रहें। उन्होंने कहा कि जो कौम अपने संस्कारों को भुला देती है, संसार उसको भुला देता है। उन्होंने कहा कि अपनी संस्कृति और संस्कारों को ना भूलें। इस काम में श्री लक्ष्मीनारायण दिव्य धाम गत 30 वर्षों से असंख्य लोगों को प्रेरणा दे रहा है। पूजन के उपरांत उन्होंने सभी भक्तों को प्रसाद एवं आशीर्वाद प्रदान किया।

समाचार एंव विज्ञापन देने के लिए 09818926364 पर संपर्क करें या [email protected] पर मेल करें
बता दें कि श्री लक्ष्मी नारायण दिव्य धाम 1989 से ही यहां फरीदाबाद में स्थापित है और देश दुनिया से भक्तों को आकर्षित करता रहा है। यहां भगवान लक्ष्मी नारायण को इष्ट मान कर पूजा अर्चना की जाती है, हालांकि मंदिर परिसर में 11 मंडप में अन्य देव मूर्तियां भी विराजमान हैं। जिसकी स्थापना वैकुंठवासी स्वामी सुदर्शनाचार्य जी महाराज ने की थी। उनके बारे में कहा जाता है कि वह व्यक्ति के भूत, भविष्य और वर्तमान तीनों बिना पूछे बता सकते थे। उनका यह वादा भी था कि दिव्य धाम आने वालों को धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति होती रहेगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like