‘स्वास्थ्य और खुशी’ विषय को लेकर राष्ट्रीय संगोष्ठी का किया गया आयोजन

फरीदाबाद: 21 सितंबर, डी ए वी शताब्दी महाविद्यालय फरीदाबाद तथा राष्ट्रीय चेतना शक्ति फाउंडेशन के सौजन्य से ‘स्वास्थ्य और खुशी’ विषय को लेकर दिनांक 20 सितंबर को एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन महाविद्यालय सभागार में किया गया। संगोष्ठी के मुख्य वक्ता के रूप में प्रो प्रवीन कुमार मलिक, एम बी बी एस,एम डी,आई एम ए,इ एस आई सी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल फरीदाबाद, रामबीर सिंह दहिया तथा मैडम अर्चना रहे। डॉ प्रवीन मलिक ने अपने वक्तव्य में कहा कि स्वस्थ शरीर मे ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। स्वस्थ रहने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपनी दिनचर्या में सुधार की आवश्यकता है। साथ ही साथ अपने खानपान में भी पौष्टिक आहार को अपनाने की आवश्यकता है। रामबीर सिंह ने बताया कि योग स्वस्थ रहने सबसे अच्छा साधन है। जब शरीर स्वस्थ होगा तभी मन एकाग्र होगा और व्यक्ति तभी प्रसन्न रह सकता है। मैडम अर्चना ने पौष्टिक आहार में किन खाद्य पदार्थो को सेवन करना चाहिए इस विषय में अपने विचार रखे।

अंत मे महाविद्यालय की कार्यकारी प्राचार्य डॉ सविता भगत में संगोष्ठी में आये हुए सभी शिक्षकों, गणमान्य अतिथियों एवं विद्यार्थियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही उन्होंने बताया कि किस प्रकार इस कोरोना काल में स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहकर इस महामारी से बचा जा सकता है। इसके लिए आवश्यक है जीवनी शक्ति को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थो को अपने दैनिक जीवन में आहार रूप में लेना। एक स्वस्थ व्यक्ति ही देश की उन्नति में अपना योगदान दे सकता है।इस संगोष्ठी के संयोजक डॉ जितेंद्र ढुल रहे। मंच संचालिका के रूप में डॉ मीनाक्षी हुड्डा रहीं। लगभग 100 श्रोताओं की उपस्तिथि रही।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like