सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर में माता रानी की नवज्योतो को नवजोड़ों द्वारा किया गया प्रज्वलित 

सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर में माता रानी की नवज्योतो को नवजोड़ों द्वारा किया गया प्रज्वलित 

मां शैलपुत्री की पूजा के साथ राजेश कुमार व राकेश दीवान ने की ज्योति प्रचंड 

फरीदाबाद, 2 अप्रैल : चैत्र नवरात्रों के पावन अवसर पर सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर एन.एच.1 में नवरात्र मेला कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में फाइव एस इंटरनेशनल के राजेश कुमार एवं राकेश दीवान ने शिरकत की, जबकि श्रीरामा रोडवेज के आर के बत्रा की गरिमामयी उपस्थिति इस मौके पर मौजूद रही। कार्यक्रम की शुरूआत मां शैलपुत्री की पूजा एवं ज्योति प्रचंड के साथ की गई। इसके बाद नवरात्र कथा सुनाई गई और तत्पश्चात प्रसाद वितरित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पावन सिद्धपीठ हनुमान मंदिर के प्रधान पूर्व महापौर अशोक अरोड़ा ने की। इस मौके पर मुख्य अतिथि राजेश कुमार एवं राकेश दीवान ने अपने कर कमलों द्वारा माता रानी की ज्योत प्रचंड की और माता के चरणों में शीश झुकाया। उन्होंने माता रानी का गुणगान करते हुए कहा कि आज से हिन्दू नववर्ष विक्रमी संवत 2079 एवं नवरात्रों की शुरूआत है। हिन्दू धर्म में इसे पवित्र त्यौहार माना जाता है और नववर्ष की शुरूआत होती है। उन्होंने नववर्ष में सभी के जीवन में शांति एवं समृद्धि की कामना की।

समाचार एंव विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 09818926364

नवरात्रि पर्व का पहला दिन जहां मां शैलपुत्री की पूजा से शुरू होता है, वहीं समाप्ति भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव रामनवमी के दिन होती है। देशभर में बड़े ही धूमधाम से यह त्योहार मनाया जाता है। नवरात्रि के इन नौ दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। हिंदू धर्म के अनुसार कुछ लोग मां दुर्गा की मूर्तियां अपने घरों में स्थापित करते हैं तो कुछ देवी दुर्गा के इन पूरे 9 दिनों का उपवास रखते हैं। नवरात्रि शुरू होते ही लोग एक-दूसरे को मैसेज के जरिए बधाइयां देनी शुरू कर देते हैं। उन्होंने कार्यक्रम के सुंदर आयोजन के लिए सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर के प्रधान एवं समस्त कार्यकारिणी को बधाई दी। इस अवसर पर जानकारी देते हुए पूर्व महापौर एवं मंदिर के प्रधान अशोक अरोड़ा ने बताया कि नवरात्रों में पूरे 9 दिन मंदिर परिसर में प्रात: 8 से 9 बजे तक नवरात्रि कथा का वाचन होगा तथा शाम को 6:00 बजे से 9:00 बजे तक माता रानी की चौकी और उसके पश्चात प्रसाद वितरित किया जाएगा। इसलिए अधिक से अधिक श्रद्धालू मंदिर में आकर माता रानी के चरणों में शीश झुकाएं और कथा का आनंद लें।।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like