भगवान परशुराम की अलख जगाने वाले पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली का जगह-जगह जोरदार स्वागत

गांव बघौला में ब्राह्मण रत्न एवं कुलैना में ब्राह्मण शिरोमणी अवॉर्ड से सम्मानित
फरीदाबाद, 4 मई : पूरे भारतवर्ष में भगवान परशुराम की अलख जगाने वाले अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली का फरीदाबाद के गांव बघोला, अमरपुर, कुलैना एवं पन्हैड़ा खुर्द में जोरदार स्वागत किया गया। भगवान परशुराम जन्मोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम में गांव कुलेना स्थित भगवान परशुराम धाम मन्दिर में ग्राम सरदारी ने ब्राह्मण उनको ब्राह्मण शिरोमणी उपाधि से सम्मानित किया। पं सुरेन्द्र शर्मा बबली ने गांव कुलैना में कार्यक्रम की अध्यक्षता की, जबकि मुख्य अतिथि पं मूलचंद शर्मा कैबिनेट मंत्री हरियाणा सरकार रहे। पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली को ब्राह्मण शिरोमणि अवॉर्ड से सम्मानित करते हुए गांव कुलैना के सरपंच पं त्रिलोक शर्मा ने कहा पं सुरेन्द्र शर्मा बबली सामाजिक धार्मिक क्षेत्र में बहुत सराहनीय कार्य करते हैं। भगवान परशुराम की अलख पूरे देशभर में जगाने और धार्मिक कार्यों में उनकी सहभागिता को देखते हुए उनको ब्राह्मण शिरोमणि अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। इससे पूर्व गांव बघौला में भी भगवान परशुराम जयंती के मौके पर सुंदर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां पर ग्राम की सरदारी ने पं सुरेन्द्र शर्मा बबली को ब्राह्मण रत्न अवार्ड से सम्मानित किया। एक ही दिन में पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली को क्षेत्र के दो ब्राह्मण बाहूल्य गांवों में अलग-अलग रत्नों से सम्मानित किया गया। पं ललित आजाद मेम्बर ग्राम पंचायत ने कहा कि पं सुरेन्द्र शर्मा बबली मानवता के प्रति हमेशा कार्यरत रहते हैं। जब भी समाज को उनकी आवश्यकता होती है, वह हाजिर रहते हैं। पिछले कुछ समय से भगवान परशुराम की महिमा का गुणगान पूरे देश में कराया है। उनकी अथक मेहनत एवं प्रयासों को देखते हुए गांव बघौला की सरदारी ने उन्हें ब्राह्मण रत्न दिया है। इस अवसर पर पं सुरेन्द्र शर्मा बबली ने कहा कि इस सम्मान से में बहुत प्रसन्नचित है। समाज एवं बिरादरी ने जो मुझे मान-सम्मान दिया है मैं सदा इसका आभारी रहूंगा। जहां तक बात है भगवान परशुराम नाम की अलख जगाने की तो वो मेरे रोम-रोम में बसे हैं और उनकी अपार कृपा से ही मैं आज समाज के लोगों के बीच पहुंच पाता हूं। भविष्य में भी समाज हितार्थ समर्पित रहूंगा, समाज जो भी जिम्मेदारी मुझे देगा, उसे पूरी करूंगा। इससे पहले भी अनेकों जगह मुझे सम्मानित किया गया है। मगर, मेरे लिए सम्मान का बहुत बड़ा है सदैव बिरादरी एवं अपनी सरदारी का ऋणी रहूंगा। इससे पूर्व पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली ने भगवान परशुराम जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रमों में शिरकत की और भगवान परशुराम का आशीर्वाद लिया। सर्वप्रथम वह गांव बघोला पहुंचे और वहां भगवान परशुराम जी की प्रतिमा को विधिवत रूप से स्नान कराया और चरणों में नमन किया। उन्होंने यज्ञ में आहूति भी डाली। बघोला के बाद पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली गांव अमरपुर पहुंचे जहां भगवान परशुराम जयंती के उपलक्ष्य में भंडारे का आयोजन किया गया था। उसके बाद कुलैना की पावन भूमि पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत एवं मान-सम्मान किया गया। जिसके बाद वह गांव पन्हैड़ा पहुंचे जहां खंडेसरी बाबा अभधूत नाथ की 12 वर्ष की तपस्या पूर्ण होने पर विशाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। वहां उन्होंने बाबा अभधूत नाथ का आशीर्वाद प्राप्त किया।
अंत में पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली ने सैक्टर-12 स्थित अपने कार्यालय पर भगवान परशुराम जयंती पूजन एवं अर्चन के साथ मनाई और भगवान परशुराम की आरती के साथ उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। गांव कुलैना में आयोजित विशाल कार्यक्रम में पं सुरेन्द्र शर्मा बबली के साथ पूर्व मंत्री करण दलाल, ओ पी शर्मा, पं सुरेन्द्र वशिष्ठ, पं धर्मचंद, पं वीरपाल दीक्षित, पं ललित आजाद, पं ललित पाराशर, पं वेदप्रकाश, पं लाला शर्मा, पं हेतराम, पं हरीश पाराशर एडवोकेट, पं कर्ण पाराशर इंजिनियर, पं अतुल, पं किशोर शर्मा, जसवंत पवार, पं रामी सरपंच, पं महेंद्र शर्मा, पं आशीष शर्मा, पं वेदराम शर्मा, पं अजीत कश्यप, पं मोहन सरपंच, पं श्यामबीर सरपंच, पं श्याम नम्बरदार सहित सम्मानित महानुभाव उपस्थित रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like