संस्कारशालाएं सरकारी एवं निजी सभी प्रकार के स्कूलों में खुलनी चाहिए:यशपाल यादव

फरीदाबाद: 09 मार्च, घरोड़ा स्थित विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के 11वें उद्घाटन दिवस कार्यक्रम पर एक संस्कारशाला का प्रारंभ जिला उपायुक्त यशपाल यादव ने किया। उन्होंने शिलापट्ट का अनावरण कर और रिबन की गांठ खोलकर संस्कारशाला का विधिवत रूप से उद्घाटन किया।
इस अवसर पर जिला उपायुक्त यशपाल यादव ने कहा कि विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल ने संस्कारशाला का प्रारंभ पर एक नेकी का कार्य किया है। इससे न केवल बच्चे अपने लक्ष्यों के प्रति केंद्रित हो सकेंगे बल्कि वह अपने दायित्वों के निर्वहन के प्रति भी सचेत होंगे। यादव ने कहा कि जो व्यक्ति अपने जीवन में दृढ़ निश्चय कर कार्य करता है उसकी सफलता निश्चित होती है और हमारी सनातन परंपराएं हमारे दृढ़ निश्चयों को और मजबूती प्रदान करती हैं। उन्होंने लोगों से कहा कि वह संस्कारों की केवल बात ना करें बल्कि उन्हें अपने जीवन में भी उतारें।
इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी ने कहा कि यहां पर जिले के अधिकांश स्कूल संचालक उपस्थित हैं। वह भी इस प्रकार की कोशिशों को आगे बढ़ाएं तो निश्चित रूप से शिक्षा के क्षेत्र में एक क्रांतिकारी बदलाव हमें आने वाले समय में देखने को मिल सकता है। स्कूल के निदेशक दीपक यादव ने बताया कि वास्तव में यह एक यज्ञशाला है जहां बच्चों के साथ प्रतिदिन वैदिक रीति से हवन का आयोजन किया जाएगा। इसमें उस संबंधित दिन पर जन्मदिन वाले बच्चों को यज्ञ में भागीदार बनाया जाएगा और उन्हें एक यादगार भी दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि यज्ञशाला का वास्तविक अर्थ बच्चों में संस्कारों का पोषण करना है। यहां बच्चों को ध्यान एवं योग की कक्षाएं भी लगाई जाएंगी और उन्हें प्रेरक क्लास भी मिलेंगी। हमारा प्रयास होगा कि यह बच्चे मॉडर्न एडुकेशन के साथ साथ सनातन संस्कृति एवं परंपरा को अपने जीवन में स्वीकार करें, जिससे भारत पुनः विश्व गुरु बन सके।
उन्होंने बताया कि इस यज्ञशाला से उठने वाले धूम्र से आसपास का वातावरण शुद्ध होगा, विषाणु का नाश होगा और लोगों का स्वास्थ्य सुधरेगा वहीं बच्चों में भी संस्कारों का उदय होगा, पॉजिटिविटी बढ़ेगी और ईश्वर के प्रति आस्था मजबूत होगी। इन सभी अर्थों में हमारा यह प्रयास सार्थक सिद्ध होगा, इसका हमें पूर्ण विश्वास है।
इस अवसर पर स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने सभी का धन्यवाद किया। उन्होंने बच्चों से कहा कि वह अपने माता-पिता के पैसे पर गर्व ना करें और शिक्षा प्राप्त करने के अवसर को बेकार न जाने दें। यह शिक्षा ही जीवन भर काम आएगी। माता-पिता भी अपने बच्चों को केवल पैसे से सुविधाएं देने की कोशिश ना करें, बल्कि साथ बैठकर संस्कारों को उनके जीवन में दें।
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा के बड़े भाई टिप्पर चंद शर्मा, हरियाणा एडुकेटर्स क्लब के प्रधान रमेश डागर, बल्लभगढ़ प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन के प्रधान चंद्रसेन शर्मा, फरीदाबाद प्रोग्रेसिव स्कूल्स कॉन्फ्रेंस के प्रधान नरेंद्र परमार, निगम पार्षद दीपक यादव, जिला पार्षद सुरजीत अधाना एवं विक्रम सिंह अरुआ, सत्यवीर डागर, जोध सिंह वालिया, लखन बेनीवाल सहित अनेक शिक्षा संस्थाओं एवं विद्यालयों के संचालक प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like