सनातनियों को अपने धर्म व त्यौहारों के प्रति जागरूक होना जरूरी: भारत अशोक अरोड़ा

पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर में नवरात्रों को लेकर हुए डांडिया शाम का आयोजन

फरीदाबाद: 07 अप्रेल,  पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर 1 बी ब्लॉक में नवरात्रि महोत्सव पर भव्य ‘डांडिया शाम’ का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में बड़खल विधानसभा क्षेत्र की विधायिका  सीमा त्रिखा ने शिरकत करके इस भव्य धार्मिक संध्या का आनंद लिया। इस मौके पर पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर के प्रधान पूर्व महापौर अशोक अरोड़ा तथा भारत अरोड़ा सहित अन्य पदाधिकारियों ने विधायिका  सीमा त्रिखा का मंदिर पहुंचने पर स्वागत किया। इस मौके पर सीमा त्रिखा ने कहा कि भारत ऋषि-मुनियां का देश रहा है और इसकी संस्कृति और संस्कार दोनों ही बेहतर है और हमारी संस्कृति के चलते पूरे विश्व में हमारी एक अलग पहचान है। उन्होंने कहा कि हम सनातन धर्म से है और हमारे धर्म में यही सिखाया जाता है कि अपनी संस्कृति और अपने त्यौहारों का श्रद्धापूर्वक मनाएं, जिससे कि समाज में सुख समृद्धि का आगमन रहे।  त्रिखा ने कहा कि पिछले दो सालों के दौरान कोरोना महामारी के चलते पूरे विश्व की गति थम गई थी, भारत भी इस विकराल महामारी से जूझ और अब जाकर कही जिंदगी फिर से पटरी पर लौटी है वह महामाई से प्रार्थना करती है कि उक्त बीमारी न केवल भारत से बल्कि पूरे विश्व से खत्म हो जाए और लोगों की जिंदगी पुन: की तरह भाईचारे और एकता के साथ चलती रहे। इस अवसर पर भारत अरोड़ा ने कहा कि वह नवरात्रों के पावन पर्व पर फरीदाबादवासियों को शुभकामनाएं देते है।

नवरात्रों के दौरान हर श्रद्धालु में एक नई ऊर्जा का संचार हो जाता है, नवरात्रों से पहले मंदिरों में एक नई चहल-पहल नजर आने लगती है। वैसे तो सभी भूखे पेट नहीं रह सकते, लेकिन महामाई के नवरात्रों के लिए उसके बच्चे पूरा दिन भूख रहकर उसकी अराधना करते है। उन्होंने कहा कि हम सनातनी है इसलिए हमें अपने धर्म व अपने त्यौहारों के प्रति युवा पीढ़ी को जागरूक करना चाहिए क्योंकि जो व्यक्ति सनातनी होकर अपने धर्म के प्रति जागरूक नहीं है, उसका जीवन निराधार है। इसलिए हमें अपने सभी त्यौहारों को धूमधाम मनाना चाहिए और खासकर नवरात्रों के मौके पर महामाई की पूजा अर्चना अवश्य करनी चाहिए क्योंकि नवरात्रों का पर्व ऐसा है, जो साल में दो बार आता है और हर व्यक्ति में एक नई ऊर्जा का संचार करता है।

उन्होंने कहा कि नवरात्रों के अवसर पर पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर में इस बार डांडिया महोत्सव का आयोजन किया गया, जिसमें श्रद्धालुओं ने बढ़चढकर हिस्सा लेकर डांडिया खेला और इस भक्तिमय संध्या का आनंद लिया। इस अवसर पर किशन कुमार, मनोहर नागपाल, विनोद कुमार, दर्शन, खुशीराम, पवन, राहुल, विनय व बंसीलाल मुख्य रूप से उपस्थित थे।।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like