36वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय मेले में विभिन्न देशों-प्रदेशों की संस्कृति के दर्शन होंगे

फरीदाबाद : 13 जनवरी, 03 से 19 फरवरी तक लगने वाले 36वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में विभिन्न देशों-प्रदेशों की संस्कृति के दर्शन तो होंगे ही, हरियाणा का अपना घर भी आकर्षण का खास केंद्र रहेगा। वीआइपी गेट के पास हरियाणा के अपना घर का विस्तार किया जा रहा है। यहां अर्जुन का पेड़ है। यहीं चौपाल बनाई जाएगी, जिस पर हुक्का का इंतजाम होगा। आप हुक्का गुड़गुड़ा सकते हैं, तो आपको पगड़ी बांधने का भी मौका मिलेगा।
हरियाणा पर्यटन निगम की ओर से अपना घर बनाया जा रहा है। पिछले वर्षों में हरियाणा का अपना घर मुख्य चौपाल के पिछले हिस्से में था। मुख्य चौपाल के विस्तार के साथ ही पुराने अपना घर की जगह पर अब कलाकारों के लिए ग्रीन रूम बना दिया गया है।अब देश-विदेश के पर्यटकों को वीआइपी गेट से प्रवेश करते ही हरियाणा के अपना घर के दर्शन हो पाएंगे। अपना घर के पास ही थीम स्टेट में शामिल आठ राज्यों के एक जोन को भी संवारा जा रहा है। यहां की सड़क को चमकाया जा रहा है।
मेले में इस बार नार्थ ईस्ट के आठ राज्य थीम स्टेट के रूप में शामिल होंगे। असम, अरुणाचल, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, नगालैंड और सिक्किम सहभागी होंगे। मेले में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) से जुड़े कई देश पार्टनर कंट्री के रूप में सहभागी बनेंगे।विरासत हैरिटेज विलेज, कुरुक्षेत्र की ओर से हरियाणा में हलों की विविधता, उसके प्रकार व इतिहास, खेती-बाड़ी के औजारों की विविधता, उनकी प्रदर्शनी, पगड़ी परंपरा का इतिहास तथा महत्व बारे में पर्यटकों को जानकारी दी जाएगी।मेला के नोडल अधिकारी यूएस भारद्वाज ने बताया कि प्रदेश के सांस्कृतिक परिवेश को दर्शाने के लिए अपना घर पर खास ध्यान दिया जा रहा है। इससे देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों को यहां की ग्रामीण संस्कृति और परंपराओं के बारे में जानकारी मिल सकेगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

You cannot copy content of this page