हनुमान जयंती महोत्सव के अवसर पर निकाली गई 50 वीं भव्य शोभा यात्रा

फरीदाबाद: 23 अक्तूबर,  हनुमान जयंती महोत्सव के अवसर पर अखिल भारतवर्षीय श्री सनातन धर्म महाबीर दल फरीदाबाद द्वारा 1 बी ब्लॉक स्थित सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर के प्रांगण से दोपहर 3 बजे भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। मंदिर प्रांगण से निकाली गई इस 50वीं शोभा यात्रा में हनुमान जी महाराज के अनेक सुंदर स्वरूपों का दर्शन झांकियों के माध्यम से कराया जाता है। जिसमें मुख्य रूप से श्री राम मंदिर अयोध्या की प्रस्तुति , उडते हुए श्री हनुमान जी महाराज का सुंदर स्वरूप एवं पंचमुखी हनुमान जी का भव्य रूप देखने को मिलता है।

यात्रा दोपहर 3 बजे मंदिर प्रांगण से आरंभ होकर एन.एच.1, एन.एच.5, एन.एच.4, एन.एच.3, एन.एच.2 से घूमते हुए रात्रि 9.30 बजे मंदिर प्रांगण में आकर ही समाप्त होती है, जिसमें हजारों श्रद्धालु शामिल होते हैं। इस भव्य कार्यक्रम का आयोजन मंदिर के प्रधान एवं पूर्व महापौर नगर निगम अशोक अरोड़ा के नेतृत्व में किया जाता है। यात्रा में मुख्य अतिथि के रूप में केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने शिरकत की, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता बडख़ल विधानसभा क्षेत्र से विधायक सीमा त्रिखा एवं स्लैज हैमर कंपनी के चेयरमैन प्रदीप मोहंती ने की। यात्रा आरंभ करने से पूर्व विधिवत रूप से हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। उसके बाद दोपहर 2 बजे झंडा पूजन, 3 बजे शोभायात्रा प्रस्थान और रात्रि 9 बजे पारितोषित वितरण कार्यक्रम संपन्न होता है।

सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर से निकाली जाने वाली शोभायात्रा का इतिहास बड़ा गौरवशाली रहा है। आज से ठीक 5 दशक पहले अखिल भारतवर्षीय महाबीर दल नंबर 1 बी ब्लॉक की तरफ से हनुमान जयंती पर शोभा यात्रा की शुरूआत हुई थी। जब यहां पर एक छोटा सा मंदिर था। उस समय मंदिर समिति से जुड़े पूर्व प्रधान गोविंद राम कुमार, बनवारी लाल कुमार,  मोहनलाल कुमार,  रामशरण कुमार, श्रीराम कुमार मसाले वाले, रोशनलाल चावला, नरसिंह दास, राम प्रकाश चक्रवर्ती, खान चंद कुमार, दीवानचंद, कर्मचंद, रवेल चंद कुमार, दीवानचंद गुलाटी, मनोहरलाल गुलाटी, गोवर्धनदास चोपड़ा, शकुंतला देवी, पुष्पा जोशी ने एक बैठक में इस बात पर जोर दिया कि अपने क्षेत्र के लोगों के बच्चों को अच्छी शिक्षा देने के लिए एक स्कूल भी बनवाया जाए, ताकि बच्चे नि:शुल्क अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें। अब इसके लिए फंड जुटाने की बात आई तो, हनुमान जयंती के दिन शोभा यात्रा के माध्यम से इस पर सहमति बनी। उसी दिन से यह तय हो गया कि हर वर्ष दीपावली से पहले वाले दिन शोभा यात्रा निकाली जाएगी, जो क्रम यथावत आज भी जारी है। आज भव्य मंदिर प्रांगण में श्री अखिल भारतवर्षीय सनातन धर्म संस्था की तरफ से सैंकड़ों बच्चों को बेहतरीन वातावरण में शिक्षा उपलब्ध कराई जा रही है। यहां से बच्चे पढने के बाद आज बड़े पदों पर पहुंच चुके हैं।

मंदिर कमेटी के प्रधान अशोक अरोड़ा ने जानकारी देते हुए बताया कि सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर द्वारा निकाले जाने वाली यह शोभा यात्रा शहर में निकलने वाली यात्राओं में सबसे लम्बी होती है और 14 किलोमीटर की यात्रा को श्रीराम के 14 वर्ष के बनवास से जोड़ा जाता है। यह यात्रा एन.एच.1 से शुरू होकर बी के चौक, नीलम चौक, एन.एच.5, एन.एच.4, एन.एच.3, एन.एच.2 से होते हुए पुन: एन.एच.1 सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर में आकर समाप्त होती है। इस यात्रा में भारी संख्या में श्रद्धालुजन शामिल होते हैं। साथ ही साथ भगवान श्रीराम, लक्ष्मण, जानकी माता, हनुमान जी के विविध स्वरूप, भगवान शिव, लक्ष्मी नारायण, कृष्ण भगवान की सुंदर झांकियों के साथ शहर के प्रमुख बैंड एवं पीटी शो शामिल होते हैं। लोग अपनी गलियों के चौराहों एवं घरों की छत पर खड़े होकर इस शोभा यात्रा का आनंद उठाते हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like