पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर में जन्माष्टमी पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन

फरीदाबाद: 20 अगस्त, श्री कृष्ण जन्माष्टमी के पावन अवसर पर पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर 1 बी ब्लॉक के प्रांगण में सायं 6.00 से रात्रि 12.00 बजे तक सुंदर झांकियों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इन झांकियों में श्री कृष्ण जी की लीलाओं को अलग अलग तरीके से प्रदर्शित किया गया। मंदिर में निकाली गई इन झांकियों में भैरव नाथ की झांकी, काली माता  की अद्भुत लीला, श्री कृष्ण जन्म भूमि, श्री लड्डू गोपाल की अटखेलिया, खाटू श्याम की झांकी, कालिया नाग का मर्दन, गोवर्धन पर्वत उठाते हुए श्री कृष्ण की आकर्षक झांकी का प्रदर्शन अत्यंत शोभनीय रहा। इनके अलावा मुख्य झांकी जो इस बार आकर्षण का केंद्र रही वह थी श्री कृष्ण जन्म भूमि की सुंदर झांकी, जिसमें वर्तमान समय में चल रहे मुद्दे की और जनता का ध्यान आकर्षित किया गया। इनके अतिरिक्त भैरव नाथ जी की झांकी भी मुख्य आकर्षण का केंद्र रही।

इस अवसर पर श्री सनातन धर्म सीनियर सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा श्री कृष्ण, रूकमणि और सत्यभामा का आकर्षण  एक्ट और श्री कृष्ण के साथ गोपियों की लीला को भी सुंदर तरीके से प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से बडख़ल की विधायक  सीमा त्रिखा, उद्योगपति मोहंती दंपत्ति, अमरजीत सिंह चावला, मनजीत सिंह चावला प्रधान सिंह सभा गुरुद्वारा नंबर 1, हिमांशु नरेंद्र बहल, आशीष जैन, मिसेज कपूर और एसएचओ थाना कोतवाली रामबीर सिंह का मंदिर के प्रधान अशोक अरोड़ा (पूर्व महापौर), मंदिर प्रबंधक मनोहर लाल नागपाल, राजीव कोचर, सतीश वधवा, कोषाध्यक्ष विनोद कुमार, सचिव गुलशन कुमार ने स्वागत किया। उन्होंने बेहतरीन कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले कलाकारों एवं सेवादारों झांकी इंचार्ज राहुल अरोड़ा, विनय कुमार, अंकुश वधवा, राज कुमार भंडारी, लंगर व्यवस्था सुरेन्द्र विक्की, लाईन व्यवस्था राकेश जैकी, जितेन्द्र बंसल, जीया लाल, अमित सेठी, दिनेश अरोड़ा, संजय मल्होत्रा, मेहमानों की अगवानी उपप्रधान सुरेन्द्र अरोड़ा, हरीश कुमार, जुते चप्पल सेवा मनीष अरोड़ा, प्रदीप धूपर व अन्य साथी, झूले की सेवा राम पाल शर्मा, जगदीश दुआ, संजय कुमार का भी आभार व्यक्त किया। अशोक अरोड़ा ने कहा कि आज जिस प्रकार से मंदिर परिसर में भक्तों का तांता लगा रहा और प्रबंधन कमेटी ने बेहतरीन इंतजाम किए, वह काबिले तारीफ है। हम आशा करते हैं कि मंदिर की शोभा इसी प्रकार बनी रहेगी और अधिक से अधिक श्रद्धालूजन एवं भक्तजन मंदिर के साथ जुड़ेंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like