700 लोगों ने लिया मानव रचना, सर्वोदय अस्पताल और ईशा फाउंडेशन द्वारा आयोजित ‘ब्राउन रिबन आर्ट फेस्टिवल’ में भाग 

  1. 700 लोगों ने लिया मानव रचना, सर्वोदय अस्पताल और ईशा फाउंडेशन द्वारा आयोजित ‘ब्राउन रिबन आर्ट फेस्टिवल’ में भाग

– ईशा फाउंडेशन के #SaveSoil कैंपेन पर हुआ आर्ट फेस्टिवल

– 7 साल तक के बच्चों से लेकर 25 वर्ष से अधिक के लोगों ने लिया भाग 

फरीदाबाद 27 मार्च,  मानव रचना शैक्षणिक संस्थान ने सर्वोदय अस्पताल और ईशा फाउंडेशन के साथ मिलकर “ब्राउन रिबन आर्ट फेस्टिवल 4.0” का आयोजन किया जिसमें लगभग 700 दिल्ली-एनसीआर निवासियों ने भाग लिया | मानव रचना के प्रांगण में आयोजित की गई इस पेंटिंग प्रतियोगिता के माध्यम से सभी उपस्थित लोगों ने मिट्टी संरक्षण (Save Soil) के प्रति जागरूकता के लिए आर्ट का सहारा लिया | इससे पहले भी सर्वोदय अस्पताल और मानव रचना ने मिलकर 3 बार महिलाओं के ब्रैस्ट कैंसर जागरूकता एवं पर्यावरण जागरूकता विषय पर पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया है जिसमें दिल्ली-एनसीआर के बड़े स्तर के पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था |

सभी प्रतियोगियों को उनकी उम्र और बौद्धिक विकास के हिसाब से पेंटिंग करने के विषय दिए गए थे जैसे 7 साल तक के बच्चों को “मिट्टी ही जिंदगी है”, 8 से 13 साल के बच्चों को “मिट्टी – भगवान का सुनहेरा उपहार”, 14 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए “स्वस्थ मिट्टी – स्वस्थ भविष्य” विषय दिया गया था | 19 से 24 वर्ष के युवाओं को “मिट्टी बचाओ- एक समग्र समाधान” विषय पर अपने विचार प्रस्तुत करने का अवसर मिला और 25 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग को “मृदा का जादू” विषय दिया गया। 3 मुख्य विशेषज्ञों ने 5 वर्गों में से चार केटेगरी में विजेताओं के नाम की घोषणा की: प्रोमिसिंग आर्टिस्ट, फर्स्ट रनर-अप, सेकंड रनर-अप, और विनर |  प्रतियोगिता के बाद सभी बच्चों ने पीएमओ को #SaveSoil पर चिट्ठी लिखी और सभी ने ईशा फाउंडेशन के #SaveSoil के डांस स्टेप्स फॉलो कर डांस किया |जागरूकता फ़ैलाने के लिए मानव रचना के स्टूडेंट वेलफेयर विभाग के बच्चों ने #SaveSoil कैंपेन पर एक ‘फोटो वॉल- आरेख’ बनाई | इसके अलावा, मानव रचना की पैगाम थिएटर सोसाइटी ने एक नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन किया |

डॉ. अमित भल्ला, उपाध्यक्ष, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान ने बताया कि बदलते समय के साथ, शिक्षा की भूमिका में भी बहुत बदलाव आया है, तथा इस प्रकार के अनूठे आयोजन समाज में दोहरे फायदे के साथ स्वीकार किए जाते है जिसमें उभरती हुई कला को मंच मिल जाता है और बड़े ही संजीदा अंदाज़ से समाज में जागरूकता फैलती है | उन्होंने सभी को अपनी प्रकृति की रक्षा करने और आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर भविष्य बनाने के लिए प्रोत्साहित किया।

सर्वोदय अस्पताल के चेयरमैन डॉ. राकेश गुप्ता ने बताया कि इस प्रतियोगिता का आयोजन ईशा फाउंडेशन के सहयोग से मिट्टी संरक्षण विषय पर जागरूकता को उच्च स्तर तक ले जाने और शहर को एकजुट करने के लिए किया गया था ताकि इस विषय पर सार्वजनिक रूप से चर्चा की जा सकें। उन्होंने कहा, “हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि मिट्टी हमारे जीवन का आधार है | इस प्रतियोगिता में हमने मिट्टी के महत्व और उसके हॉलिस्टिक तरीके से बचाव जैसे टॉपिक लोगों को दिए जिससे लोगों का इस विषय पर ध्यान केंद्रित हो | इस प्रतियोगिता में लोगों के उत्साह को देखकर हमें यकीन है कि हमारा यह कदम सफल साबित होगा |”

इस अवसर पर संयोगिता शर्मा, डायरेक्टर, मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल (MRIS), MRIS की आर्ट टीम, सर्वोदय अस्पताल की टीम और ईशा फाउंडेशन की टीम उपस्थित रही| मानव रचना रेडियो 107.8 इस प्रतियोगिता का रेडियो पार्टनर था |

 

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like